Mobile repairing me DC power supply ka istemal kaise karte he ?

Mobile repairing me  DC power supply ka istemal kaise karte he ?  


Hello friend's

आज हम जानेंगे की मोबाइल रिपेयरिंग करते समय हम  डीसी पॉवर सप्लाई का इस्तेमाल कैसे कर सकते है । डीसी पॉवर सप्लाई से मोबाइल के फोल्ट को हम बड़ी आसानी से पहचान सकते हे । मोबाइल रिपेयरिंग के लिए यह एक  बहोत ही यूजफुल टूल हे ।इसे इस्तेमाल करना भी बहुत आसान है ।तो चले देखते है कि हम डीसी पॉवर सप्लाई को मोबाइल रिपेयरिंग के लिए कैसे इस्तेमाल करते है ,कैसे मोबाइल के problem को पहचान सकते हे ।
डीसी पॉवर सप्लाई से जब हम कोई मोबाइल कनेक्ट करते है या  ऑन ऑफ की प्रेस करने पर हमें जो करंट सेक्शन में रीडिंग शो होता है उससे हम मोबाइल के problem को पहचान सकते हे ।

dc power supply mobile repairing
DC POWER SUPPLY




  • Battery low problem

कई बार मोबाइल  की बैटरी पूरी तरह से डिस्चार्ज हो जाती है , उस वक्त हम मोबाइल को डीसी पॉवर सप्लाई से कनेक्ट कर ऑन कर सकते हे ।हमें अपने डीसी पॉवर सप्लाई में वॉल्टेज को 4.2 पर सेट करना होता है । इसके रेड कलर के प्रोब को मोबाइल के बैटरी कनेक्टर के  पॉजिटिव  सिरे पर लगाना हे और ब्लैक प्रोब को मोबाइल के ग्राउंड पर लगाना हे और ऑन ऑफ की को प्रेस करना है अगर मोबाइल में कोई खराबी नहीं हे तो हमारा मोबाइल ऑन हो जाएगा ।

  •  On/off key problem

अगर हम मोबाइल को डीसी पॉवर सप्लाई से कनेक्ट करते हैं और ऑन ऑफ  की को प्रेस करते है । तब हमारे  डीसी पॉवर सप्लाई पर करंट के सेक्शन में रीडिंग बढ़ने लगता है । अगर पॉवर की प्रेस करने पर रीडिंग में कोई बदलाव नहीं आता है तो इसका मतलब यह होता है कि ,हमारे मोबाइल में ऑन ऑफ स्विच में  problem  है ।आप ऑन  ऑफ की को बदलकर देख सकते है आपकी प्रॉब्लम सॉल्व हो जाएगी।

  •  Dead mobile problem


अगर किसी मोबाइल में हम डीसी पॉवर सप्लाई को कनेक्ट करते है और कनेक्ट करते ही  डीसी पॉवर सप्लाई में सिर्फ 1 रीडिंग शो होता है ऑन ऑफ की प्रेस करने पर भी उसमे कोई बदलाव नहीं होता है तो इस केस में यह प्रॉब्लम हमारे मोबाइल के चार्जिंग पोर्ट में हो सकता है ।आप मोबाइल के चार्जिंग पोर्ट को चेंज करके देख सकते है ।कई बार मोबाइल के चार्जिंग पोर्ट में पानी जानेसे या मिट्टी जनेसे जादा तर यह प्रॉब्लम आता है ।

  •  Haf shorting

अगर डीसी पॉवर सप्लाई से मोबाइल को कनेक्ट करते ही ,उसमे बिना ऑन ऑफ की को  प्रेस किए 10 या 20 से  आगे रीडिंग जाता है तो इसका मतलब यह होता है कि हमारे मोबाइल में हाफशोर्टिंग हे । इस केस में हमारे मोबाइल के पीसीबी में  जिस भी कंपोनेंट में  shorting  है वहां पर हिटिंग होना स्टार्ट हो जाता है । इस केस में हम उस कंपोनेंट को बदलकर मोबाइल को ठीक कर सकते है ।

  • Full shorting

अगर हम डीसी पॉवर सप्लाई को मोबाइल से कनेक्ट करते है, तब अगर उसमे बीप की sound सुनाई दे तो समझ लेना कि हमारे मोबाइल में shorting  का प्रॉब्लम हे बहुत सारी डीसी पॉवर सप्लाई में मोबाइल अगर शॉर्ट होता है तो डीसी पॉवर सप्लाई अपने आप बंद हो जाता है ।उसमे वोल्टेज  की जगह सिर्फ 0000 ही दिखाई देता हे । अगर मोबाइल में full shorting है तो हमें डीसी पॉवर सप्लाई के वोल्टेज को कम करना हे उसे  1.3 वोल्ट  के आस पास रखना हे और मोबाइल को कनेक्ट करना है ।तब हमारे मोबाइल में हाफ शोर्टिंग में जिस टाइप की कंडीशन बनती हे उसी तरह से हमारे मोबाइल में  भी जो कंपोनेंट शॉर्ट हे वो हिटिंग होने लगता है। उसे हम बदलकर इस प्रॉब्लम को सॉल्व कर सकते है ।

  •  Mobile software problem

किसी भी मोबाइल को डीसी पॉवर सप्लाई से कनेक्ट करने के बाद ऑन ऑफ की को प्रेस करने पर अगर उसमे जो रीडिंग हे वो अगर 10 या 20 के बीच में जाकर रुकता हे तो यह प्रॉब्लम हमारे मोबाइल में सॉफ्टवेयर से रिलेटेड हो सकता है ।इस केस में हमें अपने मोबाइल में सॉफ्टवेयर चढ़ाकर देखना हे ।




  •  Battery check

हम डीसी पॉवर सप्लाई पर मोबाइल के बैटरी को भी चेक कर सकते है ।बैटरी को चेक करने के लिए डीसी पॉवर सप्लाई को 0 वोल्ट पर सेट करना हे और इसमें जो दो प्रोब आते है उन्मेसे रेड प्रोब को बैटरी के पॉजिटिव प्वाइंट पर और ब्लैक प्रोब को बैटरी के निगेटिव प्वाइंट पर रखना हे ,तब हमें डीसी पॉवर सप्लाई पर हमारे बैटरी का वोल्टेज दिखाई देता है ।अगर उसने कुछ भी वोल्टेज नहीं दिखाई देता है तो इसका मतलब है हमारे मोबाइल की बैटरी पूरी तरह से डिस्चार्ज हो गई है । अगर बैटरी फूली नहीं है तो हम उस ठीक कर सकते है ।इस केस में हमें अपने डीसी पॉवर सप्लाई में वोल्टेज को 12 वोल्ट पर सेट करना हे और बैटरी को झटका देना हे हमारी बैटरी ठीक हो जाएगी ।
                    या मार्केट में अलग से एक झटका मशीन उपलब्ध है जिसके द्वारा बैटरी को झटका दिया जा सकता है ।
इस तरह से हम मोबाइल रीपैरिंग में डीसी पॉवर सप्लाई का इस्तेमाल कर सकते है ।और मोबाइल में बड़ी आसानी से foult को पहचान सकते हे ।
उम्मीद है दोस्तो आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा ।इस पोस्ट को अपने फ्रेंडस के साथ जरूर शेयर करे ।
धन्यवाद्
Previous
Next Post »